जब शिष्य ने कर दिया गुरु समेत पूरे परिवार का सफाया !

2892

अंतर्राष्ट्रीय प्रसिद्ध भजन गायक अजय पाठक और उनका परिवार २०२० की पहली सुबह नहीं देख पाया !

नए साल की पूर्व संध्या पर जब पूरी दुनिया जश्न की तैयारी में लगी थी उसी समय पता चला की उनको और उनके परिवार के तीन सदस्यों को मौत की नींद सुला दिया गया है । शामली आदर्श मण्डी क्षेत्र के पंजाबी कॉलोनी में बदमाशों ने भजन गायक अजय पाठक, उनकी पत्नी स्नेहलता बेटी वसुंधरा और बेटे भागवत की हत्या कर दी थी ।

अजय पाठक उनकी पत्नी और बेटी तीनों के शव उनके घर में खून से लथ पथ पड़े मिले । उन्हें मारने के लिए धार-दार हथियार का इस्तेमाल किया गया था । वारदात को अंजाम देने के बाद बदमाश फरार हो गए । इस घटना के बाद मृतक अजय पाठक के 11 साल के बेटे का कहीं पता नहीं था माना जा रहा था कि बदमाश उनके बेटे को अपने साथ गाड़ी में लेकर फरार हुए हैं । अनुमान था कि बदमाश घर में घुसे, पूरी वारदात को अंजाम दिया और गायक अजय पाठक की गाड़ी से ही उनके बेटे को लेकर फरार हो गए ।

अजय पाठक के पास अपनी तीन कारें टवेरा, इनोवा व इको स्पॉट थी । केवल इको स्पॉट कार में ही जीपीएस नहीं लगा था, जबकि अन्य दोनों कारों में जीपीएस लगा हुआ था। जिसकी जानकारी हत्यारे को थी। इसलिए वह इको स्पॉट कार को ही ले गया । जीपीएस न लगा होने के कारण पुलिस को कार की लोकेशन पता करने में परेशानी का सामना करना पड़ रहा था ।

घटना का पता तब चला जब ३१ दिसंबर मंगलवार को शाम के लगभग चार बजे पास में ही रहने वाले उनके भाई उन्हें मोबाइल पर कॉल कर रहे थे लेकिन फोन नहीं उठ रहा था. वे उनके घर पहुंचे तो मुख्य दरवाजे का छोटा गेट खुला था ! अजय के भाई जब ऊपर पहुंचे तो वहां उन्हें गेट पर ताला लगा मिला !

कुछ संदिग्ध लगने पर उन्होंने पुलिस को सूचना दी । पुलिस ने जब दरवाजा खोला तो हैरान रह गई अंदर अजय पाठक, उनकी पत्नी और बेटी का शव खून से सना पड़ा था !

मृतक अजय पाठक व उनकी पत्नी की लाश ऊपर पड़ी हुई थी जबकि  उनकी बेटी की हत्या करने के बाद लाश को नीचे लाकर डाला गया था ।

इस सनसनीखेज हत्याकांड की वारदात से पुलिस विभाग में हड़कंप मच गया । आनन-फानन में जिले के तमाम आला अधिकारी घटना स्थल पर पहुंचे और फॉरेंसिक टीम को भी बुला लिया गया ! पुलिस ने तीनों के शवों को पोस्टमार्टम के लिए भिजवा दिया । पुलिस अजय पाठक के मकान के बाहर और आस-पास लगे सीसी टीवी फुटेज को खंगाल रही थी ।

पुलिस अगवा हुए बेटे और कार की तलाश में भी जुटी थी ! तभी जानकारी मिली कि पानीपत पुलिस ने एक युवक को अजय पाठक की कार में आग लगाते हुए पकड़ा है और कार की डिक्की से एक बच्चे का अधजला शव मिला है !

ये खबर मिलते ही शामली पुलिस अजय पाठक के परिजनों के साथ मौके पर पहुंची तो मृतक बच्चे की शिनाख्त अजय पाठक के अगवा बेटे भागवत के रूप में हुई ! पकड़े गए आरोपी के पास से दो चाकू, एक तलवार और कुछ लूटा हुआ सामान भी बरामद हुआ !

इसके बाद 1 जनवरी २०२० को हत्या के मामले का पुलिस ने खुलासा कर दिया ।

पुलिस ने इस हत्याकांड के मुख्य आरोपी जिस युवक को गिरफ्तार किया था उसका नाम था हिमांशु !

मृतक अजय पाठक और आरोपी हिमांशु सैनी

पुलिस के अनुसार हत्यारोपी हिमांशु सैनी गायक अजय पाठक का शिष्य है और वो उनके साथ भजन के कार्यक्रमों में जाता रहता था और ३० दिसंबर घटना वाली रात को अपने गुरुजी अजय के घर ही सोया था । उसने अपने गुरु के घर पर खाना खाया, फिर उनके पैर दबाए ।

इसके बाद उसने अपने गुरु समेत परिवार के चार सदस्यों का कत्ल कर दिया । 

पुलिस के मुताबिक अजय पाठक से हिमांशु को 60 हजार रुपये लेने थे मांगने पर वो उसे बेइज्जत करते थे । वारदात वाली रात भी यही हुआ इसी से आहत होकर उसने पूरे परिवार को मौत के घात उतार दिया ।

मीडिया के सामने पेश करने पर हिमांशु बोला कि उसने अजय पाठक से अपने रुपये मांगे थे, लेकिन उन्होंने भला बुरा कहा और दो तीन चांटे मार दिए !  जिस वजह से उसने बहुत अपमानित महसूस किया । और वो कमरे से नीचे आ गया । इसके बाद उसने आपा खो दिया !

उसे अब खुद भरोसा नहीं हो रहा है कि उसने ये क्या कर दिया है । उसने घर में ही रखी तलवार और चाकू उठा कर एक-एक कर के अजय पाठक, उनकी पत्नी और दोनों बच्चो को मार दिया !

आरोपी हिमांशु हत्या के बाद शवों को ठिकाने लगाने के लिए बारी-बारी से गाड़ी में डालकर पानीपत लेकर जाना चाहता था ।

उसने अजय की कार को मकान के बाहर लगाकर पहली मंजिल से भागवत और वसुंधरा का शव नीचे घसीटते हुए उतारा । भागवत का शव कार की डिक्की में डाल दिया लेकिन वसुंधरा का शव भारी होने की वजह से वह उठा नहीं सका । तब तक दिन निकल चुका था और काफी रोशनी हो गई थी । गली में आवाजाही देख उसने वसुंधरा का शव वापस कमरे में रख दिया और उस पर रजाई डाल दी । इसके बाद वह भागवत का शव लेकर फरार हो गया ।

पानीपत ले जाकर वो भागवत का शव कार समेत जलाना चाहता था, इसी दौरान पुलिस ने पानीपत के हाईवे से हिमांशु सैनी को पकड़ लिया ।

ऐसी ही और जानकारी वाली पोस्ट के लिए हमारे YouTube चैनल The Chanakya को सब्सक्राइब कर लें, और हमारे फेसबुक पेज को like करें  !