Gangster Daler Kotia (दलेर कोटिया) Biography | Lawrence Bishnoi | Jaggu Bhagwanpuria

4071
daler-kotia

लॉरेंस बिश्नोई (Lawrence Bishnoi) और जग्गू भगवानपुरिया (Jaggu Bhagwanpuria) की जान का दुश्मन (Gangster Daler Kotia) दलेर कोटिया 

लॉरेंस बिश्नोई (Lawrence Bishnoi) और जग्गू भगवानपुरिया (Jaggu Bhagwanpuria) ये दो ऐसे गैंगस्टर हैं जो जेल में बैठकर मोबाइल का इस्तेमाल करते हैं, खुलेआम रंगदारी का कारोबार चलाते हैं और वहीं बैठे-बैठे अपने दुश्मनों को ठिकाने भी लगा देते हैं.

लेकिन फिलहाल कोई है जो गैंगस्टर लॉरेंस बिश्नोई और जग्गू भगवानपुरिया को अपना जानी-दुश्मन मानता है और अमेरिका में बैठकर इन दोनों को ठिकाने लगाना की मंशा भी रखता है.

आज हम जिस गैंगस्टर (Gangster) की बात कर रहे हैं उसका नाम है (Daler Kotia) दलेर कोटिया.

फिलहाल दलेर कोटिया भारत में नहीं है, वो अमेरिका में बैठकर यहाँ अपना रंगदारी का कारोबार चला रहा है.

हाल ही में करनाल जिले के असंध में दो डॉक्टरों को रंगदारी के लिए अमेरिका से फोन आया था.   

26 जून को मीनाक्षी अस्पताल के संचालक डॉक्टर संदीप और 5 जुलाई को ओम अस्पताल के मालिक डॉक्टर राजेश कुमार को एक विडियो कॉल आई थी. कॉल करने वाले व्यक्ती ने उन्हें जान से मारने की धमकी देते हुए 20–20 लाख रूपए की मांग की थी.

बाद में एस पी गंगाराम पुनिया ने इसकी जांच सीआईए को सौंपी.

सीआईए ने इस मामले में 42 लाख रूपए और नोट गिनने की एक मशीन के साथ तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया था.

पूंछताछ में सामने आया था कि विडियो कॉल करके रंगदारी मांगने वाला शख्स कोई और नहीं दलेर कोटिया था.

गैंगस्टर लॉरेंस बिश्नोई और जग्गू भगवानपुरिया से दलेर की क्या दुश्मनी है ? ये जानने से पहले दलेर कोटिया के बारे में जानना जरूरी है.

कौन है (Gangster Daler Kotia) दलेर कोटिया ? 

पंजाब और हरियाणा के ऐसे बहुत सारे नौजवान हैं, जिन्होंने किसी न किसी कारण से अपराध का रास्ता चुन लिया और आगे जाकर वो खतरनाक गैंगस्टर बन गए.

दलेर कोटिया (Daler Kotia) भी उन्ही में से एक है उस पर चार हत्याओं समेत डकैती, रंगदारी और अपहरण के करीब ढेड़ दर्जन मुक़दमे दर्ज हैं. 

ये भी पढ़ें  Gangster Lawrence Bishnoi Biography in Hindi । छात्र जीवन से लॉरेंस बिश्नोई कैसे बना खलनायक ।

हरियाणा में करनाल जिले की तहसील असंध में 18 मई 1997 को दलेर का जन्म हुआ था पिता जरनैल सिंह किसान थे. 

दलेर जब बड़ा हुआ तो पिता ने उसे मेडिकल स्टोर खुलवा दिया.

सब कुछ ठीक चल रहा था…

इसी दौरान दलेर के पिता जरनैल सिंह का देहांत हो गया.

Daler Kotia

पिता की मौत के बाद जब पड़ोसी जमीन दबाने की कोशिश करने लगे तो दलेर को महसूस हुआ कि शराफत का तो ज़माना ही नहीं है.

जमीन को लेकर दलेर के कुछ लोगों से झगडे होने शुरू हो गए और उसके खिलाफ कुछ आपराधिक मामले भी दर्ज हो गए.

बाद में दलेर पर एक एसएचओ की पिटाई करने का भी आरोप लगा था, उसने अपने एक सरदार दोस्त की पगड़ी उतरवाने पर पुलिस वाले की पिटाई कर दी थी. इस मामले में दलेर को जेल भी जाना पड़ा.

उसके खिलाफ आपराधिक मुक़दमे बनने लगे और मेडिकल स्टोर बंद हो गया.

जिसके बाद दलेर कोटिया अवैध हथियार और शराब का कारोबार करने लगा.

इसी शराब के धंधे को लेकर दो गुटों में झगड़ा हुआ और इस झगडे में एक व्यक्ती की जान चली गयी.

दलेर कोटिया (Daler Kotia) के खिलाफ ये हत्या का पहला मामला था, इसके बाद उत्तर प्रदेश, हरियाणा और हिमाचल में तीन और हत्याओं में दलेर का नाम आया.

दलेर जब अपराध के रास्ते पर चल पड़ा और उसके बापस लौटने की कोई उम्मीद न बची तो उसकी माँ ने भी  उससे सम्बन्ध ख़त्म कर लिए और उसे बेदखल कर दिया

जब कोई नौजवान राह से भटककर अपराध का रास्ता चुनता है तो या तो वो खुद अपनी  गैंग बना लेता है या पहले से मौजूद किसी गिरोह में शामिल हो जाता है.

दलेर के साथ भी ऐसा ही हुआ, उसके एक रिश्तेदार ने शेरा खुब्बन गैंग के विक्की गौंडर से उसे मिलवा दिया. 

Vicky Gounder

उस वक़्त विक्की गौंडर पंजाब का कुख्यात गैंगस्टर हुआ करता था.

ये भी पढ़ें Gangster Vicky Gounder Biography in Hindi । दुश्मन को मारकर भांगड़ा करने वाला गैंगस्टर विक्की गौंडर

अपराध की दुनिया में आने से पहले विक्की गौंडर एक बेहतरीन खिलाड़ी था और डिस्कस थ्रो में उसने राष्ट्रीय स्तर पर तीन गोल्ड और दो रजत पदक हासिल किये थे, लेकिन बाद में उसने अपराध का रास्ता चुन लिया था.

विक्की गौंडर के ऊपर हमने पहले से ही विडियो बनाई हुई है, आप आई बटन पर जाकर वो विडियो देख सकते हैं.  

विक्की गौंडर से मिलने के बाद दलेर भी शेरा खुब्बन गैंग का हिस्सा बन गया.

जब गैंग बनते हैं तो गैंगवार भी होती है.

विक्की गौंडर (Vicky Gounder) ने 21 जनवरी 2015 के दिन कुख्यात गैंगस्टर सुक्खा कहलवा (Sukha Kahlon) की  पुलिस कस्टडी में हत्या कर दी थी और ये हत्या आपसी गैंगवार का ही नतीजा थी.

दरअसल साल 2010 में सुक्खा कहलवा ने विक्की गौंडर (Vicky Gounder) के दोस्त लवली बाबा की हत्या की थी और विक्की गौंडर ने सुक्खा कहलवा को मारकर अपने उसी दोस्त की मौत का बदला लिया था.

बाद में 26 जनवरी 2018 को विक्की गौंडर अपने दो साथियों प्रेमा लाहोरिया और सुखप्रीत के साथ पुलिस मुठभेड़ में मारा गया.

लेकिन ये गैंगवार अभी थमी नहीं है, पिछले महीने ही विक्की गौंडर गैंग के सहयोगी गैंगस्टर रणदीप सिंह उर्फ राणा कंधोवालिया की हत्या कर दी गयी और इस हत्या की जिम्मेदारी तिहाड़ जेल में बंद विरोधी गैंग के जसदीप सिंह उर्फ़ जग्गू भगवान पुरिया ने ली थी.

अब दलेर कोटिया अपने विरोधी गैंग के कुख्यात  गैंगस्टर जग्गू भगवान पुरिया और लॉरेंस बिश्नोई को अपना जानी-दुश्मन मानता है और उनकी जान लेना चाहता है.

गैंगस्टर लॉरेंस बिश्नोई वही गैंगस्टर है, जिसने सलमान खान को जान से मारने की धमकी थी. उसके बाद वो सुर्ख़ियों में आया था.

खबर है कि दलेर कोटिया फिलहाल अमेरिका में रह रहा है.

6 फरवरी 2019 को अवैध हथियार, शराब और लूट के सामान के साथ पुलिस ने उसके कुछ साथियों को गिरफ्तार किया था, लेकिन वो बच कर निकल गया इसके बाद मई 2019 में वो देश छोड़कर यूएस चला गया. तब से वो वहीं रह रहा है.   

इस ख़बर के बारे में अपनी राय कमेंट करके जरूर बताइयेगा और ऐसी ही अपराध की सच्ची कहानियों के लिए हमारे YouTube चैनल The Chanakya को सब्सक्राइब कर लीजिये और हमारे फेसबुक पेज को like करें.