रिज़वान उर रहमान एक अनसुलझी मर्डर मिस्ट्री

रिज़वान उर रहमान को मिली अमीर लड़की से प्यार करने की सजा ! LUX कंपनी के मालिक की बेटी प्रियंका तोड़ी और एक साधारण मुस्लिम लड़के के प्यार की कहानी !

6117

एक अमीर बिज़नेस मैन की बेटी और एक साधारण परिवार का बेटा बात सिर्फ इतनी ही होती तो भी शायद ये कहानी अपनी मंजिल तक पहुँच जाती ! लेकिन बात कुछ और भी थी लड़की का नाम प्रियंका तोड़ी और लड़के का नाम था रिज़वान उर रहमान !

२३ साल की प्रियंका तोड़ी  लक्स कोजी के मालिक अशोक तोड़ी की बेटी और रिजवान उर रहमान उस वक़्त एक डिज़ाइनिंग इंस्टिट्यूट में ग्राफिक्स्स पढ़ाने वाला टीचर

बात कोलकाता की है साल था 2007 इंस्टिट्यूट में पढ़ाने के दौरान रिजवान की मुलाकात प्रियंका तोड़ी से हुई ! साथ में पढ़ते-पढ़ाते दोनों एक दूसरे के करीब आते चले गए.

फिर एक वक़्त ऐसा आया कि दोनों ने शादी करने का फैसला कर लिया !

रिजवान के परिवार को तो इस शादी से कोई ऐतराज नहीं था लेकिन दोनों को ये डर था कि तोड़ी परिवार इसके लिए बिलकुल तैयार नहीं होगा

जब प्रियंका और रिजवान को कोई और रास्ता नहीं सूझा तो दोनों ने १८ अगस्त 2007 को चुपके से शादी कर ली ! लेकिन इसके बाद भी प्रियंका अपने पिता के घर पर ही रह रही थी !

३१ अगस्त को प्रियंका अपने पिता की कोठी छोड़कर रिजवान के मामूली से घर में रहने के लिए आ गई और अपने पिता अशोक तोड़ी को फ़ोन पर शादी की सूचना दे दी !

दोनों ने शादी तो कर ली थी लेकिन आगे का रास्ता आसान बिलकुल भी नहीं था ! अब दोनों को ये समझ में आ चुका था था कि अशोक तोड़ी उन्हें  अलग करने के लिए किसी भी हद तक जा सकते हैं रिजवान और उनके परिवार को धमकियाँ मिलने लगीं

रिजवान उर रहमान और प्रियंका ने कोलकाता पुलिस को एक पत्र लिखा जिसमे उन्होंने पुलिस को सारी हकीकत बताई और अपनी सुरक्षा की मांग की  !

उन्हें नहीं मालूम था कि जिस पुलिस से उन्होंने मदद के लिए गुहार लगाई थी वही पुलिस उन दोनों को एक दुसरे से अलग करने के लिए हाथ धोकर उनके पीछे पढ जायेगी ! दोनों को कई बार थाने बुलाया गया रिजवान पर पत्नी प्रियंका से अलग हो जाने के लिए दबाव बनाया जाने लगा  !

दोनों अलग होने के लिए तैयार न थे किसी भी कीमत पर नहीं  ! कुछ मीडिया रिपोर्ट्स में कहा गया था की रिजवान उर रहमान धर्म परिवर्तन के लिए तैयार थे इस शर्त पर कि इसके बाद  उन्हें शांति से एक दुसरे के साथ रहने दिया जाये !

7 सितम्बर को अशोक तोड़ी के भाई प्रदीप तोड़ी ने पुलिस कमिश्नर प्रसून मुखर्जी से मुलाकात की ! इसके बाद तोड़ी परिवार की और से DCP अजय कुमार को एक आवेदन दिया गया जिसमें आरोप लगाया गया था कि प्रियंका को रिजवान ने जबरन अपने घर में रखा हुआ है !

इसके बाद  DCP अजय कुमार ने रिजवान को धमकाया था कि गिरफ्तार नहीं होना चाहते हो तो प्रियंका को एक हफ्ते के लिए उनके पिता के घर भेज दे !

8 सितम्बर को प्रियंका तोड़ी को ये खबर दी गयी की उनके पिता अशोक तोड़ी बीमार हैं और प्रियंका से मिलना चाहते हैं  अशोक तोड़ी के रिश्तेदार अनिल सरावगी ने रिजवान और प्रियंका को इस बात का भरोसा दिया कि वो प्रियंका को एक हफ्ते के बाद बापस भेज देंगे !  लेकिन ऐसा हुआ नहीं !

प्रियंका को एक षडयंत्र के तहत पिता के बीमार होने की खबर देकर घर बुलाया गया था । उन्हें एक हफ्ते बाद वापस लौटना था,  लेकिन वो बापस नहीं आई !

प्रियंका को रिजवान से बात करने की इज़ाज़त नहीं थी दोनों की आख़िरी बार बात ११ सितम्बर को हुई थी ! इसके बाद रिजवान उर रहमान ने प्रियंका की आवाज़ फिर कभी नहीं सुनी !

२१ सितम्बर 2007 को रिजवान की मौत एक खबर बन गई ! उनको अपने प्रेम का मूल्य प्राण देकर चुकाना पड़ा. उनका शव कोलकाता में ही रेल की पटरियों के पास मिला ! सिर के पिछले हिस्से में एक गहरा घाव था ! रहस्यमयी परिस्थितियों में हुई उनकी मौत से उन्हें जानने वाले सभी लोग सन्न थे !

पुलिस ने कहा कि यह आत्महत्या का मामला है ! तोड़ी परिवार से पुलिस के घाल-मेल की ख़बरें मीडिया में चलने लगीं !

मामले ने तूल पकड़ा कैंडल मार्च से शुरू हुए विरोध प्रदर्शन ने हिंसा का रूप ले लिया ! पत्थरबाजी शुरू हुई, पुलिस की गाडी भी फूंक दी गयी !  कुछ पुलिस वाले घायल भी हुए !

मुख्यमंत्री बुद्धदेव भट्टाचार्य रिजवान उर रहमान के परिवार से मिलने गए तो उन्हें भी भीड़ के विरोध का सामना करना पड़ा !

मामला हाई कोर्ट पहुंचा. रिज़वान की मां किश्वर जहां का कहना था कि उनके बेटे रिज़वान की हत्या हुई है !

कोलकाता हाई कोर्ट ने सीबीआई को जांच का आदेश दिया मुख्यमंत्री ने पुलिस आयुक्त प्रसून मुखर्जी  के साथ चार और बड़े अधिकारियो के तबादले कर दिए ! और ये भी कहा कि अगर सीबीआई जांच में पुलिस अधिकारी दोषी पाए गए तो उनके खिलाफ सख्त कार्यवाही की जाएगी !

साल 2008 में सीबीआई,   जांच के बाद इस नतीजे पर पहुंची कि रिजवान उर रहमान ने आत्महत्या की थी ! पुलिस के कुछ आला अधिकारीयों और तोड़ी परिवार द्वारा उन्हें आत्महत्या करने के लिए उकसाया गया था !

रिजवान के एक पारिवारिक मित्र सईद मोहिउद्दीन उर्फ़ पप्पू को भी ३१ अक्टूबर 2008 को गिरफ्तार किया गया था

अशोक तोड़ी, भाई प्रदीप और रिश्तेदार अनिल को दिसंबर 2008 में पुलिस ने गिरफ्तार किया और जनवरी २००९ में उन्हें जमानत भी मिल गयी

मई 2010 में कोलकाता हाई कोर्ट ने सीबीआई को इस मामले में हत्या का केस दर्ज कर चार महीने में जांच रिपोर्ट सौंपने का आदेश दिया !  

अशोक तोडी और सीबीआई दोनों ने कोलकाता उच्च न्यायालय के आदेश को चुनौती देते हुए सर्वोच्च न्यायालय का रुख किया ।

सुप्रीम कोर्ट ने रिजवान उर रहमान की मौत के मामले की नए सिरे से जांच करवाने से इनकार कर दिया । सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि इसकी ज़रूरत नहीं है । इसके बाद मामले में आरोपियों के खिलाफ़  हत्या की बजाय खुदकुशी के लिए उकसाने और आपराधिक साज़िश रचने के आरोपों के तहत  सुनवाई शुरू हुई !

वर्तमान में प्रियंका अपने पिता की कंपनी लक्स इंडस्ट्रीज में पिता का हाथ बटा रही हैं. और कभी कभार अवार्ड प्रोग्राम्स में नज़र आ जाती हैं !

रिजवान के बड़े भाई रूकवान उर रहमान को TMC से टिकेट मिला और वो विधायक बन गए !

ऐसी ही और जानकारी वाली पोस्ट के लिए हमारे YouTube चैनल The Chanakya को सब्सक्राइब कर लें, और हमारे फेसबुक पेज को like करें  !