बेटी ने बाप के साथ ऐसा क्यों किया ? crime stories in hindi

8869

The chanakya की आज की हिंदी क्राइम कहानी (crime stories in hindi) आपको अन्दर तक झकझोर कर रख देगी !

माया नगरी मुंबई में माहिम तट से 2 दिसंबर २०१९ के दिन मुंबई पुलिस को एक सूटकेस मिला. सूटकेस के अंदर एक आदमी का कटा हुआ एक हाथ, एक पैर और शरीर के कुछ और टुकड़े थे

पुलिस को ये सूटकेस महिम बीच पर तैरता हुआ मिला था लाश की पहचान कर पाना पुलिस के लिए बेहद मुश्किल था पुलिस को सूटकेस से लाश के अलावा शर्ट स्वेटर और पेंट भी मिले थे

सूटकेस मिलते से ही खलबली मच गई. पुलिसके सामने एक नया और बिना ओर-छोर का केस आकर खड़ा हो गया था.

कैसे मिली इस बिना सिर वाली लाश को पहचान ?

मामले की गंभीरता को देखते हुए जांच मुंबई क्राइमब्रांच को सोंपी गई crime ब्रांच की टीम ने एक शर्ट पर ‘एल्मो मेन्स वियर’ का टैग लगा देखा था

क्राइम ब्रांच कुर्ला पश्चिम में बेलगामी रोड पर उस दूकान पर पहुंची उस शर्ट का बिल निकला तो पता चला की बिल किसी बेनेटरिबेलो के नाम पर था !

अब इसी नाम के आदमी को खोजना पुलिस का मकसद था. मुंबई क्राइम ब्रांच ने फेसबुक पर बेनेट रिबेलो को सर्च किया और कई प्रोफाइल्स में तस्वीरें खंगाली जिसमे से एक व्यक्ति वही वाली लाल स्वेटर पहने हुए था जो उस सूटकेस में मिली थी

इस तस्वीर से कन्फर्म हो गया कि ये वही बेनेट रबेलो है. फेसबुक आईडी से पता चला कि वो म्यूजिशियन था और गिटार बजाता था. उसने अपने फेसबुक अकाउंट पर अपना विजिटिंग कार्ड भी अपलोड किया था. कार्ड पर लिखे पते पर पुलिस पहुंची. देखा कि घर पर ताला लगा हुआ है. पूछताछ करने पर पता चला कि किसी ने भी बेनेट को पिछले कुछ दिनों से देखा ही नहीं था

पड़ोसियों से पूंछताछ करने पर उसकी गोद ली हुई बेटी आराध्या पाटिल उर्फ़ रिया बेनेट रिबेलो के बारे में पता चला

पड़ोसियों ने बताया कि यहां वे अपनी गोद ली हुई उन्नीस वर्षीय बेटी के साथ रहते थे।

और हो गया इस हिंदी क्राइम कहानी (crime stories in hindi) में कातिल का खुलासा !

पुलिस ने उसका नंबर हासिल किया और 7 दिसंबर के दिन बेनेट रिबेलो की हत्या के शक में बेनेट की गोद ली हुई बेटी और उसके बॉयफ्रेंड को गिरफ्तारकर लिया. लड़की 19 साल की है और लड़का 16 साल का. पूछताछ करने पर दोनों ने बेनेट की हत्या करने की बात कुबूल कर ली

एक गोद ली हुई बेटी ने ही अपने प्रेमी के साथ मिलकर अपने पिता की हत्या कर उसके कई टुकड़े कर डाले थे। गिरफ्तार बेटी ने पुलिस के समक्ष अपना जुर्म स्वीकार करते हुए कहा कि उसे अपने किए पर कोई अफसोस नहीं है। लड़की ने हत्या की जो वजह बताई उसे जानकर पुलिस भी दंग रह गई। 

बेनेट अपने घर पर अकेला रहता था. दो शादियां की थीं, लेकिन दोनों पत्नियों से अलग हो चुका था. 26 नवंबर के दिन उसकी बेटी ने अपने बॉयफ्रेंड के साथ मिलकर उसकी हत्या कर दी.

उसनेघटना की पूरी जानकारी देते हुए बताया कि दोनों ने बेनेट के ऊपर चाकू और डंडे से हमला किया,उसके मुंह पर मच्छर मारने वाला स्प्रे किया और चाक़ू से गोदकर मार डाला.

ये भी पढ़ें – crime stories in hindi – रिज़वान उर रहमान एक अनसुलझी मर्डर मिस्ट्री !

इसके बाद शव को ठिकाने लगानेका एक प्लान बनाया.

‘उन्होंने तीन दिनों तक शव को घर में रखा। इस दौरान रिबेलो की बेटी और ब्वॉयफ्रेंड फ्लैट पर ही मौजूद थे। उन्होंने तेज धार वाले चार चाकूओं से शव को छोटे-छोटे टुकड़ों में काटा। शव के टुकड़े करने से पहले चाकू को गरम किया गया। टुकड़ों को तीन सूटकेस में भरकर रिक्शा के जरिए मीठी नदी तक लेकर गए और फेंक दिया ।’ जिसमें से एक सूटकेस बहता हुआ माहिम बीच पर पहुंच गया था। इसपूरे कांड में रिया के बॉयफ्रेंड का एक दोस्त भी शामिल था

रिया ने बताया कि बेनेट उसका यौन शोषण करता था। और बॉयफ्रेंड के साथ उसके रिश्ते का विरोध करता था। जिससे वह तंग आ चुकी थी और अपने प्रेमी के साथ मिलकर उसकी हत्या कर दी। 

पुलिस ने बांद्रा कुर्ला कॉम्प्लेक्स इलाके के पास मीठी नदी से दुसरे सूटकेस को भी बरामद किया

बाद में पुलिस ने इस मामले में तीसरेआरोपी को गिरफ्तार किया । पुलिस की गिरफ्तमें आए इस तीसरे आरोपी का नाम अली उमर मियां चाउस है । अली 19 साल का है और आराध्य उर्फ़ रिया के प्रेमी का दोस्त है

वारदात के अगले दिन यानि 27 नवम्बर को रिया और उसका प्रेमी घाट कोपर में अली से मिले थे । दोनों ने अली को बेनेट की हत्या कर दिए जाने की बात कही, फिर उससे लाश के टुकड़े करने के लिए चॉपर का इंतजाम करने को कहा। दो दिन बाद यानी 30 नवंबर को अली वाकोला आया, जहां उन तीनों ने मिलकर रात भर बेनेट की लाश को टुकड़े-टुकड़े काटा और फिर उन टुकड़ों को अलग-अलग बैग में भरने का काम किया ।

अली ने पुलिस को बताया कि उसने बेनेट के काटे हुए धड़ को बैग में भरने के बाद उसको टेप से लपेट दिया था। साथ ही, उसने लाश को ठिकाने लगाने के लिए जरूरी सामान की खरीदारी में उन दोनों की मदद भी की। दोनों के साथ उसने बेनेट के घर के पास मौजूद एक दुकान से सूटकेस व अन्य सामान खरीदे। इसी सूटकेस में लाश के टुकड़ों को भरकर वे तीनों मीठी नदी में फेंक आए थे।

26 नवंबर को बेनेट रिबेलो का कत्ल किया गया था। 27 नवंबर को उसकी लाश के आठ टुकड़े किए गए। इसके लिए चार चाकू लाए गए । रिबेलो के किचन में इन चाकूओं को गैस चूल्हे से गर्म कर उसके शरीर के अलग-अलग हिस्से को काटा गया । कुछ हिस्सों को एक सूटकेस में रखा गया। बाद में मुंबई के अलग-अलग जगहों पर उसकी बॉडी को फेंका गया। सूटकेस में रखे शव के कुछ टुकड़े पुलिस को जांच के दौरान मिले थे। उसके कपड़ों से पुलिस ने शव की पहचान की थी । इसके बाद मुंबई क्राइम ब्रांच ने सूटकेस वाली लाश की गुत्थी सुलझा ली।

आज की ये हिंदी क्राइम कहानी (crime stories in hindi) आपको कैसी लगी आप कमेंट बॉक्स में अपने विचार लिख सकते हैं !

ऐसी ही और जानकारी वाली पोस्ट के लिए हमारे YouTube चैनल The Chanakya को सब्सक्राइब कर लें, और हमारे फेसबुक पेज को like करें  !